Mera Ek Hi Mitra - मेरा एक ही मित्र






मेरा एक ही मित्र येशु
वह मेरा सब कुछ है
लाखों में वह मेरा एक ही प्रिय है,
वह शारोन का गुलाब है,
और भोर का तारा है,
लाखों में वह मेरा एक ही प्रिय है

उसके दुःख से मुझको शांति
और आनंद मिलता है
उसका क्रूस मुझको चंगा करता है
वह शारोन का गुलाब है,
और भोर का तारा है,
लाखों में वह मेरा एक ही प्रिय है

मेरा सारा बोझ उठाया मुझे चंगा कर दिया,
पाँवो को मेरे स्थिर किया है
जब अकेला था भटकता
और सब ने छोड़ दिया,
येशु मेरा प्यारा मित्र बन गया

अब मैं जीबन भर उसकी महिमा करूँगा
हाथ उठाके उसकी स्तुति करूँगा,
येशु के लिए जीऊँगा, और उसमें मरूँगा
अब वही मेरी एक मात्र आशा है


Mera ek hi mitra yeshu
Vah mera sab kuchh hain
Lakhon mein vah mera ek hi priy hain,
Vah sharon ka gulab hain,
Aur bhor ka tara hai,
Lakhon mein vah mera ek hi priy hain

Uske dukh se mujhko shanti
Aur anand milta hai
Usaka krus mujhko changa karta hai
Vah sharon ka gulab hain,
Aur bhor ka tara hai,
Lakhon mein vah mera ek hi priy hain

Mera sara bojh uṭhaya mujhe chaṅga kar diya,
Panvo ko mere sthira kiya hain
Jab akela tha bhaṭakta
Aur sab ne chhod diya,
Yeshu mera pyara mitra ban gaya


Ab main jivan bhar uski mahima karuga
Hath uṭhake uski stuti karunga,
Yehsu ke lie jiunga, aur usmein maruga
Ab vahi meri ek matra aasha hain


Songs Description: Hindi Song Lyrics, Mera Ek Hi Mitra, मेरा एक ही मित्र.
KeyWords: Hindi Christian Song Lyrics, Hindi Traditional Christian Song Lyrics.

Mera Ek Hi Mitra - मेरा एक ही मित्र thumbnail Reviewed by on June 05, 2021 Rating: 5

No comments:






All Rights Reserved by Lovely Christ - Lyrics © 2018 -
Designed by Allwin Benat

Thank you For Your Valuable Suggestions

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.